Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / September 25.
Homeहेल्थसांस संबंधित समस्याओं में किन पत्तों का अर्क है, लाभदायक?

सांस संबंधित समस्याओं में किन पत्तों का अर्क है, लाभदायक?

Adusa Plant
Share Now

प्राचीन काल से ही हमारे देश में आयुर्वेद का वर्चस्व रहा है। और आज भी हम घरेलू उपचार में आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का उपयोग करते हैं। आज हम जानेंगें ऐसे ही एक पौधे के बारे में। जिसका उपयोग आयुर्वेद में कई सदियों से किया जा रहा है। इस पौधे का नाम है- अडूसा (Adoosa Plant)। इस पौधे को इंग्लिश में Malabar nut के नाम से भी जाना जाता है।

आइए जानते हैं, अडूसा के गुणधर्मों के बारे में और अर्क के सेवन से कौन कौन से शारीरिक लाभ होते हैं?   

भारतवर्ष में अडूसा का यह पौधा लगभग कई सदियों से है। ये पौधे लगभग 1,200 से 4,000 फुट की ऊंचाई तक कंकरीली जगह पर स्वयं से उगते हैं। इन पौधों का विकास झाड़ियों के समूहों में होता है। इसके पत्ते लगभग 3-8 इंच लंबे, नोकदार होते हैं। इन पौधों के फूलों का रंग सफेद होता है।  

अडूसा के जड़, फल और पत्तियां हैं उपयोगी:- 

अडूसा एक ऐसी वनस्पति है जिसकी जड़ों से लेकर, फलों और पत्तियों का भी उपचार के लिए उपयोग में लिया जाता है। अडूसा के पत्तों का अर्क बनाकर प्रतिदिन पीने से शरीर से जुड़ी कई परेशानियाँ दूर होती हैं। इसके सूखे फलों का चूर्ण बनाकर पाउडर के रूप में सेवन किया जाता है। इसकी जड़ें भी औषधि के रूप में काम आती हैं। अर्थात अडूसा हमारे शरीर के लिए अत्यधिक उपयोगी है।

Adusa

Adusa का फल Image source: Google Image

ये हैं, अडूसा के गुणधर्म:-

  • अडूसा के पत्तों का स्वाद कड़वा और इसके फलों का स्वाद मीठा और फीका होता है।
  • अडूसा के फल और पत्तों दोनों का ही शारीरिक उपचार के रूप में किया जाता है।  
  • इसके फूल को टीबी जैसी बीमारी को ठीक करने के उपयोग में किया जाता है। 
  • यूनानी चिकित्सा पद्धति के अनुसार रक्तपित्त के लिए अडूसा का अर्क नकसीर इलाज है। 
  • कफ-दमा, सर्दी – बुखार, खांसी जैसी बीमारियों को यह अर्क दूर करता है।
  • अडूसा के पत्तों के अर्क का प्रतिदिन सेवन करने से श्वसन नाली शुद्ध रहती है। 
  • फेनफणों से कफ दूर होता है, और श्वसन क्रिया अच्छी रहती है। 

वैज्ञानिकों के मतानुसार, अडूसा कि पत्तियों में 2 से 4 प्रतिशत वासिकीन नामक एक तिक्त एलकेलाइड पदार्थ पाया जाता है।इसमें प्रचुर मात्रा में पोटेशियम नायट्रेट जैसे तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। 

Image Credit: prehealing

यहाँ पढ़ें: जानिए, पैनिक अटैक (Panic Attack) के लक्षणों के बारे में!

अडूसा के औषधीय उपचार: -(Adoosa Plant)

ऐसा कहा जा सकता है कि, अर्क के प्रतिदिन सेवन करने से कई शारीरिक बीमारियाँ ऐसी हैं, जिनका उपचार शुरुआती दौर पर संभव है।

  • अडूसा के फल के चूर्ण का अत्यधिक उपयोग किया जाता है। जिसके सेवन से मलमूत्र संबंधित समस्याएं दूर होती हैं।
  • यदि मुंह में बार-बार छाले होते हैं तो चूर्ण के सेवन से जल्दी ठीक हो जाते हैं।
  • दांतों में दर्द है या फिर दांतों से जुड़ी कई समस्याएं भी फूल के पाउडर से दूर होती हैं।
  • मसूढ़ों में यदि दर्द है तो इसके पत्तों को उबालकर पानी पीने से दर्द ठीक होता है। 
  • यदि प्रदर रोग की संसस्या है तो पत्तों के रस को शहद के साथ मिलाकर प्रतिदिन सेवन करने से प्रदर रोग की समस्या दूर होती है। 
  • सायनस की तकलीफ, नाक से खून निकालना जैसी समस्या है तो अडूसा तकलीफ मिटाने में लाभकारी है। 
  • अडूसा की सुखी पत्तियों का पाउडर बनाकर उसे काढ़ा के रूप में सेवन करने से बुखार, सर्दी, खांसी जैसी तकलीफ दूर होती है। 
  • इसके फलों को गर्म करके आँखों में लगाने से आँखों की सूजन दूर होती है।  

यहाँ पढ़ें: अंगुलियां चटकाने से हो सकते हैं, आपको ये गंभीर रोग!

हमारे देश में ऐसी कई जड़ीबूटियाँ हैं, जिनका उपयोग आज भी किया जाता है। और हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक लाभकारी है। आगे और भी कई आयुर्वेदिक औषधियों और वनस्पतियाँ हैं जिनके बारे में जानेंगें। तब तक के लिए बनें रहें हमारे साथ OTT NDIA पर। 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें..  स्वस्थ रहें.. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App
Android: http://bit.ly/3ajxBk4
iOS: http://apple.co/2ZeQjT

No comments

leave a comment