Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / October 5.
Homeकानूनकेन्द्रीय मंत्री की गिरफ्तारी को लेकर क्या कहता है कानून, राणे की गिरफ्तारी के बाद हो रही चर्चा

केन्द्रीय मंत्री की गिरफ्तारी को लेकर क्या कहता है कानून, राणे की गिरफ्तारी के बाद हो रही चर्चा

Narayan Rane arrest
Share Now

केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे की गिरफ्तारी (Union Minister Arrest)  के बाद से सांसदों को मिलने वाले विशेषाधिकार की बात शुरू हो गई है. ऐसे में कई लोग ये सोच रहे हैं कि अगर सांसदों को किसी तरह का कोई विशेषाधिकार है तो भी फिर एक केन्द्रीय राज्यमंत्री को गिरफ्तार (Union Minister Arrest) कैसे किया जा सकता है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नारायण राणे मोदी सरकार में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं. साथ ही वह राज्यसभा सांसद भी हैं, ऐसे में चर्चा इस बात की हो रही है क्या किसी राज्यसभा सांसद या केन्द्रीय मंत्री को पुलिस ऐसे ही गिरफ्तार कर सकती है. तो राज्यसभा सांसदों को मिलने वाले विशेषाधिकार ये बताते हैं कि किन परिस्थितियों में इन्हें गिरफ्तारी से छूट मिलती है.

पहला- अगर संसद का सत्र चल रहा हो तो सांसदों को गिरफ्तार नहीं किया जा सकता.

दूसरा- संसद सत्र के 40 दिन पहले और 40 दिन बाद तक सांसदों की गिरफ्तारी नहीं हो सकती.

तीसरा- संसद सदस्य को ये छूट सिर्फ सिविल मामलों में मिलेगी, मतलब आपराधिक मामलों में कोई छूट नहीं है.

चौथा- गिरफ्तारी के कारण की जानकारी सभापति को देनी होगी.

 

ये भी पढ़ें: Narayan Rane Granted Bail: केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को आधी रात मिली जमानत

नारायण राणे के मामले में भी कुछ ऐसा हुआ लेकिन उन पर मामला IPC की कई धाराओं में दर्ज हुआ था. हालांकि गिरफ्तारी के बाद उन्हें आधी रात जमानत मिल गई. जमानत मिलने के बाद राणे ने ट्वीट किया कि सत्यमेव जयते. हालांकि अदालत ने उन्हें सशर्त जमानत दी है.

वहीं गिरफ्तारी को लेकर बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट कर महाराष्ट्र सरकार पर निशाना भी साधा और कहा कि ये संवैधानिक मूल्यों का हनन है.

नारायण राणे पर आरोप है कि 23 अगस्त को रायगढ़ जिले में जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान राणे ने कहा था कि यह शर्मनाक है कि सीएम को स्वतंत्रता का वर्ष नहीं पता. वह अपने भाषण के दौरान स्वतंत्रता के वर्षों की गिनती के बारे में पूछने के लिए पीछे झुक गए. अगर मैं वहां होता तो एक थप्पड़ मार देता. इसी बयान को लेकर मंगलवार को मुंबई की सड़कों पर शिवसेना और बीजेपी के समर्थक आमने-सामने नजर आए.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment