Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / October 5.
Homeन्यूजWHO ने की विकसित देशों से कोरोना वैक्सीन की मांग!

WHO ने की विकसित देशों से कोरोना वैक्सीन की मांग!

WHO
Share Now

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के नए नए वैरिएंट सामने आते जा रहे हैं। WHO ने कोरोना के नए डेल्टा वैरिएंट (Delta variant) के बढ़ते मामलों को लेकर काफी चिंता जताई है। इसी बीच World Health Organization ने गरीब देशों के लिए वैक्सीन मांगी की है। डब्ल्यू. एच. ओ. के चीफ डॉ. टेड्रोस गेब्रेयेसस (Tedros Adhanom) का कहना है कि, सभी विकसित देश अब अनलॉक हो रहे हैं। और अत्यधिक बड़ी संख्या में नौजवानों को भी वैक्सीन लगाई जा रही है। यहाँ तक कि कई देशों में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है। वहीं दूसरी ओर विकासशील देशों में हालात बिल्कुल अलग हैं। 

विकसशील देशों के लिए वैक्सीन की मांग: 

Director general Tedros Adhanom का कहना है कि, अफ्रीका में हालात काफी बद्दतर होते जा रहे हैं। पिछले हफ्ते यहां कोरोना के मामले और मौतें करीब 40% तक बढ़ गई हैं। डेल्टा वैरिएंट (Delta variant) पूरी दुनिया में फैला रहा है। ऐसे देशों को हम वैक्सीन नहीं दे पा रहे हैं। ग्लोबल कम्यूनिटी के तौर पर हम निष्फल हो रहे हैं।

विकाशील देशों में वैक्सीन की कमी की वजह से लोगों को समयसर वैक्सीन नहीं मिल पा रही है। इसलिए WHO के Director general Tedros Adhanom ने विकासशील देशों के लिए वैक्सीन की मांग की है। 

यहाँ पढ़ें: आखिर महबूबा मुफ्ती ने क्यों किया चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान, जानिए..

डेल्टा वैरिएंट लगभग 85 देशों में तेजी से फैल रहा है: 

कोरोना संक्रमण के नए डेल्टा वैरिएंट (Delta variant) के केसों में दिन प्रतिदिन केसों की बढ़ोत्तरी हो रही है। नया डेल्टा वैरिएंट विश्व के लगभग 85 देशों में फैल चुका है। दूसरी ओर विकासशील देशों में वैक्सीन की कमी होने के कारण यह वैरिएंट तेजी से बढ़ रहा है। विकसित देश विकासशील देशों को वैक्सीन देने में देरी कर रहे हैं। इसलिए कई देशों को यह चिंता है कि कैसे ल्टा वैरिएंट पर नियंत्रण किया जाए। 

 

WHO के वरिष्ठ सलाहकार ब्रूस एल्वार्ड ने बताया कि कई देश ऐसे हैं, जहां पर कोविशील्ड वैक्सीन का एक डोज दिए जाने के बाद दूसरे डोज की कमी हो गई है। जबकि यह कमी 30 से 40 देशों में है। इसको दूर करने के लिए भारत सरकार और सीरम इंस्टीट्यूट से वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए मदद मांगी गई है। अफ्रीका, लैटिन अमेरिका, मध्य पूर्व और दक्षिण एशिया के देशों में वैक्सीन की ज्यादा कमी है। 

WHO ने 100 से ज्यादा देशों ने कोवैक्स के जरिए पहुंचाई वैक्सीन 

पूरे विश्व में WHO ने कोवैक्स के जरिए अब तक 100 से अधिक देशों को कोरोना वैक्सीनउपलब्ध करवाई है। 24 फरवरी को सबसे पहले पश्चिमी अफ्रीकी के देश घाना को वैक्सीन दी गई थी। WHO को उम्मीद है कि कोवैक्स इस साल कम से कम दो अरब टीकों की आपूर्ति कर सकता है। 

 कोवैक्स (COVAX) क्या है? 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने विभिन्न देशों का एक समूह तैयार किया है जिससे कोरोना वायरस की वैक्सीन को तैयार करने में सहायता मिल सके। इस समूह को कोवैक्स (COVAX) ग्लोबल वैक्सीन फैसिलिटी (COVID-19 Vaccines Global Access) के नाम से जाना जाता है।  इस समूह का उद्देश्य यह है कि विकसित देश पैसे देंगे और इससे विकासशील और गरीब देशो को भी वैक्सीन मुहैया कराई जाये।

यहाँ पढ़ें: Mumbai-Pune-Mumbai via Vistadome: डेक्कन एक्सप्रेस के स्पेशल कोच की ये हैं विशेषताएं!

इस वर्ष 2021 के अंत तक कोरोना वैक्सीन की दो अरब खुराक डिलिवर की जाएगी। अब तक कोवैक्स समूह में 92 विकसशील और 80 विकसित देश शामिल हो चुके हैं। विभिन्न देशों के कोवैक्स से जुड़ने के लिए 31 अगस्त 2021 की समयसीमा दी गई है। 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें OTT INDI App पर…. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment