Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Friday / October 7.
HomeUnknown फैक्ट्सजानिए, क्यूँ होगा आज का दिन सबसे लंबा?

जानिए, क्यूँ होगा आज का दिन सबसे लंबा?

Summer Solistic
Share Now

नई दिल्ली: देश में हर साल 21 जून दिन का सबसे लंबा दिन होता है। नासा की रिपोर्ट के मुताबिक, नॉर्थ-पोल (North-Pole) पर इस दिन सूर्य से प्राप्त होने वाली ऊर्जा 30% से ज्यादा होती है। क्यूंकि सूर्य ठीक उत्तरी गोलार्ध के 23.5 डिग्री ऊपर रहता है। इसलिए उत्तरी गोलार्ध में 20, 21, 22 जून को सबसे ज्यादा ऊर्जा प्राप्त होती है। इस प्रक्रिया को Summer Solstice/ग्रीष्म संक्रांति कहा जाता है। 

उत्तरी गोलार्ध में 21 जून सबसे बड़ा दिन होता है। जबकि दक्षिणी गोलार्ध में 21, 22, 23 दिसंबर को सबसे ज्यादा ऊर्जा प्राप्त होती है। इसलिए रात सबसे ज्यादा लंबी होती है। इस प्रक्रिया को Winter Solstice/शीत संक्रांति कहा जाता है। 

आज का दिन उत्तर भारत में 12 घंटों से होगा अधिक:- 

आज का दिन मतलब कि 21 जून दिल्ली और उत्तर भारत में 12 घंटों से अधिक होगा। वैसे तो सामान्य दिन और रात 12-12 घंटे के होते हैं। लेकिन 21 दिसंबर के बाद रातें छोटी होने लगती हैं और दिन बड़े। 21 जून के बाद से यह प्रक्रिया शुरू हो जाती है। आज का दिन मातलब कि 21 जून का दिन 14 घंटों का होगा। सही मायनों में कहा जाए तो 13 घंटे 58 मिनट और 01 सेकेंड का होगा। 

Summer Solstice, Image Credit: Earth.com

आज 21 जून 2021 को दिल्ली और उत्तर भारत में सूर्योदय (Sunrise) 05 बजकर 23 मिनट पर हुआ है और सूर्यास्त (Sunset) 07 बजकर 21 मिनट पर होगा। 

इक्वेटर के उत्तरी हिस्से में होती है यह प्रक्रिया:- 

सबसे लंबा दिन उन देशों में होता है, जो भूमध्य रेखा (Equator) के उत्तरी हिस्से में आते हैं। जिनमें एशिया, अमेरिका, रूस, यूरोप और हाफ अफ्रीका शामिल है। वैज्ञानिक दृष्टि से देखा जाए तो जब सूरज की किरणें सीधे, कर्क रेखा/Tropic of Cancer पर पड़ती हैं। तो इन दिन सूर्य द्वारा पृथ्वी को मिलने वाली ऊर्जा 30% से ज्यादा होती है। 

यहाँ पढ़ें: किस देश ने किया Radio Broadcasting का पहला आविष्कार?

पृथ्वी के नॉर्थ हेमिस्फेयर पर पड़ती हैं सूर्य की सीधी किरणें:-

यह तो हम बचपन से पढ़ते आ रहे हैं कि, पृथ्वी एक चक्कर 24 घंटों में पूरा करती है, इसलिए दिन और रात की प्रक्रिया होती है। लेकिन जब मार्च और सितंबर के बीच पृथ्वी सूरज का चक्कर लगा रही होती है तब पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध /Northern Hemisphere के हिस्सों पर सूरज की सीधी किरणें पड़ती हैं।

Summer Solstice

Image Credit: Encyclipedia Britanica,inc

जिस वजह से दिन लंबे होते हैं। लेकिन जब पृथ्वी के दक्षिण गोलार्ध/southern hemisphere पर सूरज की किरणें सीधी पड़ती हैं। इस तरह से देश में ऋतुओं का निर्माण होता है। ग्रीष्म ऋतु, शीत ऋतु और वर्षा ऋतु इन प्रक्रियाओं पर ही आधारित हैं। 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें..  स्वस्थ रहें.. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment