Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / August 17.
Homeन्यूजक्या अफगानिस्तान का बदलेगा नाम ? पढ़ें अब तक के बड़े अपडेट

क्या अफगानिस्तान का बदलेगा नाम ? पढ़ें अब तक के बड़े अपडेट

taliban
Share Now

काबुल में दाखिल होने के साथ ही तालिबान (Taliban) ने अफगानिस्तान (Afghanistan) पर कब्जा कर लिया है. वहीं तालिबान के आतंकियों ने रविवार रात अफगानिस्तान के राष्ट्रपति भवन पर भी कब्जा जमा लिया है. अफगानिस्तान (Afghanistan) के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने अपने कुछ लोगों के साथ मुल्क छोड़ दिया है. अशरफ गनी के अलावा उप राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह भी अफगानिस्तान छोड़ चुके हैं. कहा ये भी जा रहा है कि तालिबान अब अफगानिस्तान को इस्लामिक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान का नाम दे सकता है.

कुर्सियों और सोफे पर बैठे तालिबानी

गौरतलब है कि तालिबान के कुछ वीडियो सामने आए हैं, जिसमें तालिबान घुसकर राष्ट्रपति भवन में बैठे दिखे. तालिबान ने रविवार को घोषणा की कि उसने काबुल में सभी मुख्यालयों पर कब्जा कर लिया है. अफगान सरकार के झंडे लहराते और अपना झंडा लहराते हुए उनकी तस्वीरें भी थीं. इसके अलावा काबुल एयरपोर्ट समेत कई जगहों से अफरातफरी की तस्वीरें भी सामने आई हैं.

 

34 में से 25 प्रांतीय राजधानियों पर कब्जा 

दरअसल तालिबानी रविवार को काबुल शहर के बाहर के इलाकों में घुस गए, जिससे स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल है. एयरपोर्ट और सड़कों पर लोगों की भीड़ लगी रही. तालिबान ने अब तक अधिकांश अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया है. इसने कंधार, हेरात, मजार-ए-शरीफ और जलालाबाद जैसे शहरों सहित 34 प्रांतीय राजधानियों में से 25 पर कब्जा कर लिया है.

हमारा बदला लेने का इरादा नहीं: तालिबानी 

इससे पहले रविवार को तालिबान ने एक बयान जारी कर कहा था कि उसने नागरिकों या सेना के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने का वादा किया है. तालिबान के मुताबिक अब उनका पूरे देश पर कब्जा है. तालिबान ने कहा, कि हमारा इरादा किसी से बदला लेने का नहीं है. हमने काबुल में सरकारी कर्मियों और सेना को माफ कर दिया है और वे सभी सुरक्षित हैं. किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाएगी, सब हमारे अपने देश के हैं.

 

Taliban

ये भी पढ़ें: काबुल एयरपोर्ट पर मची अफरातफरी, प्लेन में सवार होने के लिए जद्दोजहद में जुटे लोग

कई बड़े शहरों पर तालिबान का कब्जा 

तालिबान ने अपने बयान में आगे कहा कि सभी लोगों को घर पर रहना चाहिए और देश छोड़ने की कोशिश नहीं करनी चाहिए. हम चाहते हैं कि सभी अफगान भविष्य की इस्लामी व्यवस्था में खुद को एक जिम्मेदार सरकार के रूप में देखें.इन सबके बीच अफगान सरकार के मंत्री ने कहा कि काबुल पर हमला नहीं होगा और सत्ता का हस्तांतरण शांतिपूर्वक होगा. उन्होंने आगे कहा कि काबुल की सुरक्षा के लिए सुरक्षा बल जिम्मेदार हैं. इससे पहले शुक्रवार को तालिबान ने देश के दूसरे और तीसरे सबसे बड़े शहरों, पश्चिम में हेरात और दक्षिण में कंधार और हेलमंद प्रांत की राजधानी पर कब्जा कर लिया था.

 

देश के दो तिहाई हिस्से पर तालिबानी कब्जा 

लगभग दो दशकों के युद्ध के दौरान हेलमंद में कई सैनिक मारे गए. दक्षिणी क्षेत्र पर कब्जा करने का मतलब है कि तालिबान ने 34 प्रांतों से आधी से अधिक राजधानी पर कब्जा कर लिया है. संयुक्त राज्य अमेरिका कुछ हफ्तों में अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को वापस लेने वाला है. तालिबान ने देश के दो तिहाई हिस्से पर कब्जा कर लिया है.

 

Taliban

अफगानिस्तान में तालिबानी राज!

तालिबान ने इससे पहले अफगानिस्तान में सर ए ब्रिज पर कब्जा कर लिया था. जहां से हाल ही में अमेरिकी सेना लौटी थी. इसके बाद तालिबान ने अपने हमले तेज कर दिए. इसकी कुल पांच प्रांतीय राजधानियां भी हैं, जो वर्तमान में तालिबान के नियंत्रण में हैं. कुंदुज़, सर ए पॉल और तालोकान शहर तालिबान के नियंत्रण में है. इन सभी शहरों पर तालिबान ने सिर्फ तीन दिनों में कब्जा कर लिया था. पिछले एक हफ्ते में ही तालिबान ने कई अन्य शहरों पर कब्जा कर लिया है. कुल मिलाकर अब अफगानिस्तान का कब्जा कई इलाकों से होते हुए काबुल तक पहुंच गया है. ऐसे में लगता है अफगानिस्तान में एक बार फिर तालिबानी राज शुरू होने वाला है. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

No comments

leave a comment